Logo line.jpg
Copy of Graphic111.jpg
Logo 1 copy.jpg
संस्था के उद्देयश्
1. किसानों, गरीब, मजदूरों एवं असहायों को उनका हक दिलवाना।

2. कम्प्यूटर शिक्षा एवं सर्वशिक्षा अभियान को गांव गांव से जोडना।

3. शासन द्वारा चलाई जा रहीं जनकल्याणकारी योजनाओं का ग्रामों एवं शहरों में प्रचार प्रसार करना व योजनाओं का क्रियान्वयन करवाना।

4. महिला एवं छात्राओं के उत्पीडन के खिलाफ आवाज उठाना।

5. बेरोजगारों को स्वरोजगार के अवसर प्रदान करवाना एवं लघु व कुटीर उद्योगो को बढावा देना।

6. गांव गांव को स्वच्छता एवं स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना व नशा मुक्ति अभियान चलाना।

7. पर्यावरण एवं वृक्षा रोपण के प्रति लोगों को जागरूक करना एवं मूक पशुओं की सुरक्षा करना।

8. RTE सूचना का अधिकार अधिनियम के प्रति लोगों को जागरूक करना।

1. सदस्यता- संस्था के निम्नलिखित श्रेणी के सदस्य होगों-
(अ) संरक्षण सदस्य- संस्था को जो व्यक्ति दान के रूप में रूपये. 600/00या अधिक एकमुश्त या एक साल में बारह किश्तों में देगा वह समिति का संरक्षक सदस्य होगा।
(ब) अजीवन सदस्य- जो व्यक्ति संस्था के दान के रूप में रूपये.1000/00 या अधिक देकर वह आजीवन सदस्य बन सकेगा। कोई भी आजीवन सदस्य रूपये..1000/00 या अधिक देकर संरक्षक सदस्य बन सकता है।
(स) साधरण सदस्य- जो व्यक्ति रूपये 20 रूपये माह या 250 रूपये या अधिक प्रतिवर्ष संस्था को चंन्दे के रूप में देगा वह साधारण सदस्य होगा । साधारण सदस्य केवल उसी अवधि के लिये सदस्य होगा। जिसके लिये उसने चन्दा दिया दिया है। जो साधारण सदस्य बिना संन्तोषजनक कारणों के छः माह तक देय चन्दा नही देगा उसकी सदस्यता समाप्त हो जावेगी। ऐसे सदस्य द्वारा संस्था के लिये नया आवेदन-पत्र देगें तथा बकाया चन्दे की राशि देने पर पुनः सदस्य बनाया जा सकता है।
(द)सम्मानीय सदस्य- संस्था की प्रवंधकारणी किसी व्यक्ति या व्यक्तियों को उस समय के लिये जो भी वह उचित समझे सम्मानीय सदस्य बना सकती है ऐसे सदस्य साधारण सभा में भाग ले सकते है परतु उनको मत देने का अधिकार न होगा।
2. सदस्यता की प्राप्ति-प्रत्येक व्यक्ति जो कि समिति का सदस्य बनने का इच्छुक हो लिखित रूप में आवेदन करना होगा। ऐसा आवेदन पत्र प्रवंधकारणी समिति को प्रस्तुत होगा। जिसके आवेदन पत्र को स्वीकार करने या अमान्य करने का अधिकार होगा।
3. सदस्यों की योग्यता-संस्था का सदस्य बनने के लिये किसी व्यक्ति में निम्नलिखित योग्यता होना आवाश्यक है।
1.आयु 18 वर्ष से कम न हो
2.भारतीय नागरिक हो
3.समिति के नियमों के पालन की प्रतिज्ञा की हो
4.सद् चरित्र हो तथा मद्यपान न करता हो

4. सदस्यता की समाप्ति-संस्था की सदस्यता निम्नलिखित स्थिती में समाप्त हो जावेगीः-
1. मृत्यु हो जाने पर
2. पागल हो जाने पर
3. संस्था को देय चंदे की रकम नियम 5 में बताये अनुसार जमा न करने पर
4. त्याग पत्र देने पर और वह स्वीकार होने पर
5. चरित्र दोष होने पर और कार्यकारणी समिति के निर्णय अनुसार निकाल दिये जाने पर जिसके निर्णय पारित होने की सूचना सदस्य को लिखित रूप में देना होगी
5. संस्था कार्यालय में सदस्य पंजी रखी जावेगी जिसमें निम्न व्यौरे दर्ज किये जावेगें
1. प्रत्येक सदस्य का नाम पता तथा व्यवसाय
2. वह तारीख जिसकों सदस्यों को प्रवेश दिया गया व रसीद नम्बर
3. वह तारीख जिससे सदस्यता समाप्त हुई हो
(अ) साधारण सभा- साधारण सभा में नियम 5 में दर्शाये श्रेणी के सदस्य समावेशित होगें। साधारण सभा की बैठक आवश्यकतानुसार हुआ करेगी। परन्तु वर्ष में एक बार बैठक अनिवार्य होगी। बैठक का माह तथा बैठक का स्थान व समय कार्यकारिणी समिति निश्चित कर 15 दिवस पूर्व प्रत्येक सदस्य को दी जावेगी। बैठक का कोरम 3/5 सदस्यों का होगा। संस्था की प्रथम आम सभा पंजीयन दिनाॅक से 3 माह के भीतर बुलाई जावेगी। उसमें संस्था के पदाधिकारियों का विधिवत् निवार्चन किया जावेगा। यदि संबंधित आम सभा का आयोजन किसी समय नही किया जाता तो पंजीयक को अधिकार होगा कि वह संस्था की आम सभा का आयोजन किसी जिम्मेदारी कर्मचारी के मागदर्शन में एवं पदाधिकारियों का विधिवत् चुनाव कराया जावेगा।
(ब) प्रबंधकारिणी सभा- प्रबन्धकारिणी सभा बैठक प्रत्येक माह होगी तथा बैठक का एजेण्डा तथा सूचना बैठक दिनाॅक से सात दिन पूर्व कार्यकारणी के प्रत्येक सदस्य को भेजी जाना आवश्यक होगी। बैठक में कोरम 1/2 सदस्यों की होगी। यदि बैठक का कोरम पूर्ण नही होता तो बैठक एक घंटे के लिये स्थगित की जाकर उसी स्थान पर उसी दिन पुनः की जा सकेगी। जिसके लिये कोरम की कोई शर्त न होगी।
(स). विशेष- यदि कम से कम कुल संख्या(कुल सदस्यों की संख्या का) के 2/3 सदस्यों द्वारा लिखित रूप से बैठक बुलाने हेतु आवेदन करें तो उनके दर्शाये विषय पर विचार करने के लिये साधारण सभा की बैठक बुलाई जावेगी। विशेष संकल्प पारित हो जाने पर संकल्प की प्रति बैठक पंजीयक का संकल्प पारित हो जाने के दिनाॅक से 14 दिन के भीतर भेजा जावेगा। पंजीयक को इस संबंध में आवश्यक निर्देश जारी करने तथा संमिति को परामर्श देने का अधिकार होगा।
Registration   138.2kB
Registration No 04/16/03/15289/13
Powered by BV
Name
Email
Comment
Or visit this link or this one